Rishabh Gupta

Rishabh Gupta

Business Person

You can scroll my website using and keys

आज़ादी सबको मुबारक

August 15, 2015

आज फिर से याद आया,
वो नज़ारा, एक अह्सास…‪#‎आज़ादी‬ का.
बापू के सपने…मौलाना की कुरबानी…
सब कुछ है आज पानी पानी..
घोटाले, बलात्कार, मज़हबी दंगे…
गरीबी, अशिक्षा या फिर भूखे नंगे….
ये इस उभरते ‪#‎भारत‬ का हिस्सा नही क्या…
हमारे गाँव…जहाँ भारत की आत्मा बस्ती है…हैं बेहाल..अनदेखे…
और शहर…घोटाले का एक जरिया…
किस बात की आजादी…मीडिया की…पुलिस की..या फिर कुछ नेताओ की…
वैसे…इन सब में…”हम” ही हैं.
कब वापस आओगे बापू….भारत अब भी आज़ाद नही हुआ!
“आज़ादी सबको मुबारक…” – ऋषभ १४.०८.२०१३, Rishabh Gupta